Poetry on Hindi Diwas, some lines हिंदी दिवस पर कविता

| |

हिंदी हैं हम, हिंदी है हम, वतन है, हिंदुस्तान हमारा हमारा।(Poetry on Hindi Diwas) प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर, हम सब भारतवासियों के लिए, एक गौरव भरा दिन माना जाता है, इस दिन को ‘हिंदी दिवस’ के नाम से जाना जाता है। आज कश्मीर से कन्याकुमारी तक, आसानी से बोले जाने वाली भाषा सिर्फ हिंदी ही है। आइए हिंदी के महत्व के बारे में बताने के लिए, पेश है आपके सामने हमारी एक छोटी सी HINDI DIWAS पर कविता-हिंदी से हिंदुस्तान है…..

अगर हम संक्षेप में हिंदी का इतिहास पढ़ें तो, हमें पता चलेगा कि 14 सितंबर 1949 को हमारी संविधान सभा ने, हिंदी को हर क्षेत्र में प्रसार करने के लिए निर्णय लिया व राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर 1953 से संपूर्ण भारत में प्रतिवर्ष, 14 सितंबर, हिंदी दिवस के रुप में मनाया जाने लगा

हिंदी से हिंदुस्तान है, हिंदी और हिंदुस्तान दोनों महान है।

Poetry on Hindi Diwas

जिस भाषा में समझा सकें,

हम अपने भावों को आसानी से।

है वह हिंदी भाषा, हिंदुस्तानी भाषा,

हमारी प्यारी राष्ट्रीय भाषा, हिंदी

अपनाया गया जब 14 सितंबर, हिंदी दिवस पर

हिंदी को आधिकारिक भाषा के रूप में।

बना यही क्षण हिंदुस्तानियों के लिए,

इतिहास और गौरव के रूप में।

हिंदी दिवस पर जानिए,

हिंदी भाषा का महत्व

एक यही दिन है जब याद आता है,

हिंदी का वास्तविक इतिहास।

(Poetry on Hindi Diwas)

संस्कृत और हिंदी में,

झलकती है हमारी संस्कृति

हिंदी में ही निहित है,

हम हिंदुस्तानियों की उन्नति

जहां जन्में कबीर, सूर,

हरिवंशराय जैसे हिंदी लेखक

वह बस हमारा हिंदुस्तान है,

जो बना है, आज सबके लिए प्रेरक।

हिंदी का इतिहास है,

बड़ा पुराना।

जानोगे अगर इसे,

तो लगेगा बड़ा सुहाना।

(Poetry on Hindi Diwas)

हिंदी विश्व में सबसे ज़्यादा बोली,

जाने वाली भाषाओं में से एक है।

हिंदी का बोलना, लिखना, समझना, समझाना,

दर्शाता हम सबका विवेक है।

हिंदी ने दिलाई है,

हिंदुस्तानियों को नई पहचान

जो बनी आज,

हमारे देश की शान।

अपना पहला शब्द बोला,

हमने हिंदी में।

समझा और समझाया,

एक दूसरे को हिंदी में।

कितने ही दिल को लुभाने वाले,

गाने व गजलें हैं हिंदी में।

कितने ही एहसासों व विचारों को,

प्रकट करने वाले शब्द हैं, हिंदी में।

(Poetry on Hindi Diwas)

अंग्रेजी जैसी और अन्य,

भाषाओं को भी अपनाओं।

लेकिन अपनी राष्ट्रीय भाषा हिंदी,

बोलने में कभी ना शरमाओ।

जो हमारी जन्मभूमि हैं, जहां हमारा आवास है,

यही पर सीखा हमने,

अपनी संस्कृति का महत्व हिंदी में,

यही तो हमारा प्यारा हिंदुस्तान है।

हम सब हिंदुस्तानी हैं,

Hindi se Hindustan hai

हिंदी और हिंदुस्तान,

दोनों महान हैं।

जय – हिंद

आप सभी को Hindi Diwas की हार्दिक शुभकामनाएं।

Written BY- NEHA SANGAL

Hindi Diwas पर, मेरे द्वारा लिखित, भावपूर्ण कविता पढ़ने के लिए धन्यवाद

Also read beautiful poem on Our Education System.

Previous

Save environment thoughts in Hindi with images 👉

Gunjan Saxena; द कारगिल गर्ल, A Movie Review in Hindi

Next

1 thought on “Poetry on Hindi Diwas, some lines हिंदी दिवस पर कविता”

Leave a Comment